संक्षिप्त परिचय

वीड़ा वादिनी हंस वाहिनी माँ सरस्वती के बौद्धिक आशीर्वाद और त्रिपुरारी शिरश्चारि माँ गंगा की अहैतुकी, कृपा प्रसाद से माँ गंगा एवं पावन नदी साई के मध्य प्रभावित क्षेत्र हरखपुर की नैसर्गिक एवं धार्मिक पावनता ने दृश्टान्त श्री सालिक राम तिवारी शास्त्री जी की हत्तंत्री को पुनः किसी बौद्धिक शिक्षा परख संसथान की स्थापना हेतु झंकृत करने में पूर्ण संकल्प प्राप्त किया|

फलतः क्रमशः श्री राजाराम तिवारी पूर्व माध्यमिक विद्यालय शिवमंगल नगर गुलालपुर, श्री सालिक राम दयाराम शास्त्री इंटर कॉलेज गुलालपुर, प्रयाग महाविद्यालय शिवमंगल नगर हेतापट्टी नेशनल एसोसिएशन ऑफ़ ब्लाइंड कॉलेज झूसी, ए. एन. तिवारी औद्योगिक प्रशिक्षण केंद्र गुलालपुर सहंसों इलाहाबाद, ए. एन. तिवारी नर्सरी/प्राइमरी टीचर्स ट्रेनिंग केंद्र गुलालपुर सहंसों इलाहाबाद के उत्तरोत्तर श्री वृद्धि की ओर उत्त्कर्षोंन्मुख प्रवाह मान भावो का उत्स माँ सरस्वती सीता डिग्री कॉलेज हरखपुर सोरांव, इलाहाबाद के प्रादुर्भाव की उपलब्धि तक पहुँच चूका है | जो निरंतर गतिमान रहते हुए शिक्षा तथा औद्योगिक शिक्षा बल्लारी को हरितमा प्रदान करते हुए पुष्पवित्त एवं पल्लवित कर रहा है |

डिग्री कॉलेज की स्थापना हरखपुर, महरौड़ा, सोरांव, इलाहबाद में सन २०११ में श्री अमर नाथ तिवारी जी के कुशल प्रबंधकत्व में की गई जो अपने शैशव काल से निकल किशोरावस्था को प्राप्त हो सम्प्रति डिग्री कॉलेज एक विशाल भूखंड में सुव्यवस्थित है भवन चारों ओर एक दृढ प्राचीर से आवृत्त है | भवन के अंदर १६ कक्ष कला संकाय एवं वाडीज्य संकाय स्नातक तक कक्षाओं के सात विषयों के अध्यन अद्ध्यापन के निमित्त निर्मित है | डिग्री कॉलेज परिसर में पुस्तकालय की सुव्यवस्थित संग्रहालय है, जो महाविद्यालय के छात्र और छात्राओं को पाठ्य क्रम के साथ ही पाठ्य क्रयेतर ज्ञानवर्धक प्रतियोगी परीक्षाओ से सम्बद्ध पुस्तकों का धनी है | परिसर के अंदर ही अध्यन काल की जीवनोपयोगी सभी सुविधा उपलब्ध करने हेतु श्री प्रबंधक जी कृत संकल्प हैं जिसमे सफलता उनकी अनुगामिनी बनी है |

यह डिग्री कॉलेज प्रबंधक जी की सजग बौद्धिकता के गरिमा स्वरुप ही सम्प्रति प्राप्त कर क्षेत्रीय ज्ञान पिपासु युवक युवतियों को कला संकाय के सभी विषयों एवं वाणिज्य संकाय में योग्य प्राध्यापकों के अध्यन कौशल ज्ञान संवर्धन में प्रयासरत है | श्री अमरनाथ जी के कोमल ह्रदय द्वारा क्षेत्र के दलित मंद बुद्धि, अल्पसंख्यक एवं आर्थिक दृष्टि से पिछड़े किशोरों के अतिरिक्त कुशाग्र एवं मेधावी ज्ञान पिपासुओं की पिपासा शांति हेतु उक्त डिग्री कॉलेज अपने यहाँ संचालित विषयों में उर्दू एवं गृह विज्ञानं को अंगीकार कर इस क्षेत्र के ज्ञान वर्धक विकास में एक उत्कृष्ट कार्य किया है | डिग्री कोलग की स्थापना के साथ ही उत्तरोत्तर सर्वांग पूर्ण विकासोन्मुख डिग्री कॉलेज का प्रबंधन किया जा रहा है |

विशेष नोट

फोटो गैलरी